सहजन (moringa oleifera) की खेती से किसान कर सकते हैं दोगुनी आय

Drumstick Tree
Drumstick tree or Moringa Oleifera

क्या है सहजन?

सहजन एक बहुपयोगी औषधीय पौधा है इसको हमारे यहाँ कई नामों से जाना जाता है जैसे: सुजन, मुनगा, ड्रम स्टिक आदि l सहजन की खेती भारत के लगभग हर प्रांत में आसानी से किया जा सकता है और इसमे ज़्यादा मेहनत और लागत की आवश्यकता भी नहीं होती है l  खास बात यह है कि इस पौधे के हर भाग को बेचा जा सकता है और इसको एक बार लगाने के बाद ये 4-5 साल तक फसल देता है l

बुवाई कैसे करें?

इसकी एक एकड़ की बुवाई के लिए 300-400 ग्राम बीज की आवश्यकता होती है l खेत तैयार कर के उसमें 12×7 फीट की लाइन तैयार करनी होती है, यानी लाइन से लाइन की दूरी 12 फीट रखनी होगी और पौधे से पौधे की दूरी 7 फीट, इस प्रकार एक एकड़ में करीब 518 पौधे लगाए जा सकते हैं l आप सीधे बीज भी लगा सकते हैं या फिर इसकी पौध तैयार कर के भी इसका रोपण कर सकते हैं l

पैदावार और भाव 

अगर आप अप्रैल के माह में इसकी रोपाई करते हैं तो 4 माह बाद यानी सितंबर महीने से ये आपको फली देना शुरू कर देता है और साल में दो बार आपको इस पौधे से फली प्राप्त होती है l थोक बाज़ार में फली की कीमत 10₹ से 60₹ प्रति किलो तक प्राप्त हो जाती है एक एकड़ खेत में 20-22 टन फली प्राप्त की जा सकती है l

प्रजातियाँ

सहजन की बहुत सी उन्नत प्रजातियाँ उपलब्ध हैं जैसे: PKM1, PKM2, ODC3, Jyoti 01, Rohit 1 आदि l आप अपने क्षेत्र, जलवायु, मिट्टी आदि के अनुसार अपने कृषि विभाग से सलाह लेकर उचित प्रजाति का चयन करें l

देखभाल

सहजन को ज्यादा पानी की आवश्यकता नहीं होती, इसलिए अधिक पानी से इसका बचाव करना चाहिए l ज्यादा रोग- बीमारी का प्रकोप इसमें नहीं होता है इसलिए जैविक तरीके से आप कम लागत में भी इसकी पैदावार कर के अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं l

सन्दर्भ

सहजन की खेती से कम लागत में अधिक मुनाफा लिया जा सकता है, प्रति एकड़ 1-1.5 लाख रुपये का मुनाफा किसानों को मिल सकता है l

Also Read: कैसे करें वेस्ट डिकम्पोज़र के माध्यम से गेहूँ की जैविक खेती

Also Read: ह्यूमिक ऐसिड (Humic Acid) क्या है? किसान इसके प्रयोग से कैसे लाभ प्राप्त कर सकते हैं?

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here